July 14, 2024
Why was the AAP Party government formed in Punjab?

Bhagwant Mann CM Punjab

Spread the love

Why was the AAP Party government formed in Punjab? पंजाब विधान सभा चुनावों में आम आदमी पार्टी को स्पष्ट बहुतमत मिला है। यहां आप पार्टी को विधानसभा की 177 सीटों में से 92 सीटों पर प्रचंड बहुत मिला | यहां सबसे हैरानीजनक बात ये है कि लगभग सौ साल से ज्यादा पुरानी पार्टी शरोमणि अकाली दल भी बुरी तरह हार गयी। पहले कांग्रेस की सरकार थी। कांग्रेस को मात्र 18 सीटों पर सब्र करना पड़ा। पंजाब में बदलाव की ऐसी आंधी चली कि इसमें राजनीती के बड़े बड़े धुरंधर उड़ गए। कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने ग्रह नगर पटियाला से बुरी तरह हार गए वहीं चार महीनों के लिए मुख्यमंत्री बने चरणजीत सिंह चन्नी भी अपनी दोनों सीटों चमकौर साहिब व भदौर से हार गए। प्रकाश सिंह बादल भी लम्बी से व सुखबीर बादल जलालाबाद से हार गए। सुखबीर बादल के साले विक्रम मजीठिया व कांग्रेस के नवजोत सिद्धू भी अमृतसर से हार गए।

क्यों हारे दिग्ज नेता व पूर्व मुख्यमंत्री

Why was the AAP Party government formed in Punjab?
Punjab assembly election 2022

आखिरकार क्यों इतने बड़े बड़े नेता इस चुनाव में बुरी तरह हार गए वो भी ऐसे उम्मीदवारों से जिन्हे या तो कोई जानता तक नहीं था या कोई बड़े लेवल के नेता भी नहीं थे। जबकि जो ऊपर हरे हुए नेता बताये गए हैं उनके बिना तो पंजाब की राजनीती की कल्पना करना भी मुश्किल है। लेकिन इस बार पंजाब की जनता ने उन्हें आइना दिखाते बदलाव को वोट दिया। क्यूंकि पंजाब की जनता कांग्रेस व (शरोमणि अकाली दल बीजेपी गठबंधन) से बुरी तरह परेशान हो चुकी थी। अभी तक तो यही पार्टियां बारी बारी से अपनी सरकारें बनाती रही हैं।

साल 2014 में आप की पंजाब में एंट्री (AAP’s entry in Punjab in the year 2014)

पंजाब में जैसे ही साल 2014 में एंट्री हुई तब कोई उम्मीद की किरण पंजाब के लोगो ने भी देखी थी कि शायद ये पार्टी कुछ करेगी। क्यूंकि तब दिल्ली में आप सरकार बना चुकी थी।लेकिन ये लोकसभा चुनाव थे तो यहां आप को पहली बार में कोई ज्यादा सफलता नहीं मिली लेकिन पार्टी यहां चार सीटें जितने में कामयाब रही थी एक तो भगवंत मान ही थे। तब पुरे देश की नज़र आम आदमी पार्टी पर पड़ी थी कि ये पार्टी दिल्ली के इलावा भी किसी दूसरे राज्य में प्रवेश कर चुकी हैं। वहीं आप सयोंजक अरविन्द केजरीवाल ने भी ये मान लिया था कि दिल्ली के बाद उनका अगला निशाना पंजाब ही होगा। क्यूंकि पंजाब की जनता ने चार सीटों से पार्टी को सिग्नल दे दिया था।

साल 2017 में पंजाब में दूसरे नंबर की पार्टी बनी आप (Why was the AAP Party government formed in Punjab?)

साल 2017 के विधानसभा चुनावों में एक बार फिर आम आदमी पार्टी ने पंजाब में एंट्री के लिए अपनी तैयारी कर ली थी। यहां कांग्रेस की तरफ से भी मजबूती से चुनाव लड़ा गया। पंजाब की जनता तब शरोमणि अकाली दल का दस सालों का राज देख चुकी थी। लेकिन साल 2017 में कांग्रेस ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री रहे कैप्टन अमरिंदर सिंह को ही मुख्यमंत्री चेहरा बना दिया। स्लोगन भी दिया “चाहता है पंजाब कैप्टन की सरकार”। उस समय हुआ भी ऐसा ही कांग्रेस पार्टी की जबरदस्त जीत हुई। यहां पार्टी ने 77 सीटों के साथ अपनी सरकार बनाई। इस बार आप की भी स्तिथि मजूबत हो चुकी थी। आप साल 2017 में 20 सीटों के साथ पंजाब में दूसरी बड़ी पार्टी बन चुकी थी।

Why was the AAP Party government formed in Punjab?
CM Bhagwant Mann

वहीं 120 साल पुरानी अकाली दल पार्टी को 15 व बीजेपी को 3 सीटें मिली थी। यहां आप पार्टी नॉन स्ट्राइक पर थी। अब जैसे ही साल 2022 विधान सभा चुनाव आये। आम आदमी पार्टी ने जबरदस्त पारी खेलते हुए मैदान में सबसे मजबूत नेता भगवंत मान को उतारा। पंजाब की जनता ने भी सीएम के रूप में भगवंत मान व आम आदमी पार्टी को हाथो हाथ लिया व 117 सीटों में 92 सीटों से जबरदस्त जीत दिलाई। पंजाब की कमान एक नयी पार्टी को सौंप दी। आप की आंधी ऐसी जबरदस्त चली कि यहां सभी विरोधी आल आउट ही हो गए।

नेताओं के चुनावी वादों पर खरे नहीं उतरने से परेशान थी जनता

यहां आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत मिलने का एक और भी कारण है वो है पूर्व की पार्टियां बस जनता को वोटों के समय ही याद करती थी। वोटों के समय बड़े बड़े वायदे किये जाते। एक दूसरी पार्टी पर कीचड़ उछाला जाता , जात धर्म के नाम पर खूब बांटा जाता। राज्य के असल मुद्दों की तरफ कोई ध्यान ही नहीं देता है न ही जनता को इसकी याद आने दी बस धर्म जाति में भरमाये रखा। जब आम आदमी पार्टी आई तब पार्टी ने विकास की बात की। पार्टी ने कोई जात पात की तरफ ज्यादा फोकस नहीं किया बल्कि अपना साफ साफ एजेंडा बताया कि अगर उनकी सरकार बनती है तो राज्य में शिक्षा , स्कुल , हॉस्पिटल , पानी , बिजली, रोजगार जैसी सुविधाएँ व जरूरते पूरी की जाएँगी।

Why was the AAP Party government formed in Punjab?
Punjab CM Bhagwant Maan

केजरीवाल ने ये वायदे नहीं बल्कि गारंटी दी थी। तभी पंजाब की जनता को कुछ अलग लगा कि जो भी एक मौका तो आप पार्टी को देना ही चाहिए। इन्ही चुनावों वायदों से आप पार्टी की पंजाब में जबरदस्त जीत हुई। अब पंजाब में सीएम बने भगवंत मान को मात्र कुछ ही दिन हुए हैं अभी उन्होंने अपने चुनावी वादों को पूरा करना शुरू कर दिया है। जनता को भगवंत मान से बहुत उमीदे हैं।
अब अन्य राजनीतक पार्टियों को भी समझ लेना चाइए की आप जनता समझदार हो चुकी है जाति धर्म के नाम पर वोट बहुत मांग लिए , अब जनता उन्हें ही चुनेगी जो विकास की बात करेगा व विकास करके दिखायेगा। पंजाब जीत से उत्साहित आम आदमी पार्टी अब आगामी हरियाणा , राजस्थान , गुजरात व हिमाचल प्रदेश की तैयारियों में जुट गयी है।


Spread the love

Leave a Reply