June 25, 2024
The Arrest of Culprits in the Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case

The Arrest of Culprits in the Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case

Spread the love

हत्या से पहले गोगामेड़ी ने की थी गैंगस्टर रोहित गोदारा से बात, गिरफ्तार शूटरों ने पुलिस को बताया

चंडीगढ़ – राजस्थान के जयपुर जिले में पांच दिसंबर को गोगामेड़ी कत्लकांड में रोज़ नए नए खुलासे हो रहे हैं। जैसे कि वायरल वीडियो में सभी ने देखा होगा कि हत्याकांड से कुछ मिंट पहले सुखदेव गोगामेड़ी किसी से बात कर रहे हैं , जैसे ही उन्होंने कॉल खत्म की, वहां मौजूद शूटरों ने उनपर गोलियां चलानी शुरू कर दी। घटनास्थल पर शूटरों ने कुल 17 बार फायरिंग की, जिसे सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की वहीं पर मौत हो गयी। यहीं पर एक अन्य व्यक्ति जो उन दोनों शूटरों के साथ आया था उसकी भी गोलियां लगने से मौत हो गयी। उससे भी शूटरों ने गोलियां मारी थी।

मिली जानकारी गोगामेड़ी हत्याकांड के शूटरों को पुलिस ने चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया है। इनमे दो शूटर हैं व एक अन्य जिसने इस हत्याकांड में इनकी मदद की थी। पुलिस जाँच में ये सामने आया है कि नवीन शेखावत ही इन दोनों शूटरों को गोगामेड़ी के घर ले गया था। इसके बाद नवीन ने ही गोगामेड़ी की बात विदेश में बैठे लॉरेंस गैंग के गैंगस्टर रोहित गोदारा से करवाई थी।

The Arrest of Culprits in the Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case
Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case

जैसे ही इन दोनों की बातचीत खत्म हुई वहां मौजूद दोनों शूटरों में से एक शूटर ने गोगामेड़ी पर गोलियां चलानी शुरू कर दी ये देख दूसरे शूटर ने भी गोगामेड़ी पर गोलियां दाग दी। इसके बाद वहां इनके साथ गए नवीन शेखावत पर भी गोलियां चलाई गयी वहां उसकी भी मौत हो गयी। पुलिस इस मामले की भी जाँच कर रही है कि अगर इन शूटरों के साथ गया नवीन इस मर्डर केस में शामिल था तो उससे क्यों गोलियां मारी गयी ?

The Arrest of Culprits in the Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case

इस कत्लकांड में शामिल दोनों शूटरों में से एक शूटर नितिन फौजी इंडियन आर्मी का जवान है जो कि नवम्बर में ही छुट्टी पर आया था वहीं दूसरा रोहित राठौर है जो रेप केस कारण जेल में बंद था वहीं से गैंगस्टर रोहित गोदारा के सम्पर्क में आया था। नितिन फौजी ने पुलिस को बताया के बार जब वह हरियाणा से अपनी गाड़ी को ठीक करवाने जा रहा था तब पुलिस ने उससे व उसके साथियों को फ़र्ज़ी चोरी की मामले में गिरफ्तार कर लिया लेकिन उसने वहां पुलिस पर फायरिंग कर दी और भाग निकला था।

इसके बाद उसे लगा कि अब घर वाले भी उसे रिस्ता खत्म कर देंगे और नौकरी तो जाएगी ही। इस दौरान उसके सम्पर्क में ये रोहित गोदारा , व चरण के सहयोगी रोनी राजपूत के सम्पर्क में आया उन्होंने उससे कहा अगर रोहित के लिए ये काम करेगा तो उसे कनाडा भेज दिया जायेगा। इसके बाद वो इस कत्लकांड में शामिल हो गया जबकि उसकी सुखदेव सिंह से कोई भी दुश्मनी नहीं थी।

The Arrest of Culprits in the Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case
Sukhdev Singh Gogamedi

पुलिस से मिली जानकारी मुताबिक रोहित गोदारा की सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से दुश्मनी थी लेकिन उसने इसमें कपड़ा व्यपारी नवीन शेखावत को भी जोड़ लिया था। नवीन शेखावत को इस प्लान की जानकारी नह थी। वह उन दोनों शूटरों के साथ शादी का कार्ड देने के बहाने गोगामेड़ी के घर पहुंचा। यही से वारदात हुई। बहरहाल, तीनो दोषी पुलिस की गिरफ्त में हैं ये तीनो पुलिस को चकमा देने के लिए चार स्टेट घूमते रहे, लेकिन जब ये हरियाणा के धारूहेड़ा रेलवे स्टेशन पहुंचे तो यहां के सीसीटीवी कैमरा ने इन्हे कैद कर लिया।

यहां से पुलिस की नज़र में आ गए। इसके बाद राजस्थान पुलिस ने दिल्ली पुलिस की स्पेसल सेल के साथ जाँच को आगे बढ़ाया और कुछ अन्य जेल में बंद लोगों से पूछताछ की गयी जिसके बाद इन्हे चंडीगढ़ से गिरफ्तार लिया गया। इनमे से नतिन फौजी को राजस्थान पुलिस अपने साथ ले गयी। वहीं हत्यारे रोहित राठौर व भगाने में इनका साथ देने वाले उधम सिंह को दिल्ली पुलिस अपने साथ ले गयी।


Spread the love

Leave a Reply