July 18, 2024
Prevention of Money Laundering Act (PLMA) In Hindi

Prevention of Money Laundering Act (PLMA) In Hindi

Spread the love

Prevention of Money Laundering Act (PLMA) In Hindi

इन दिनों भारत के न्यूज़ चैनल्स या न्यूज़पेपर्स में मनी लॉन्डरिंग को लेकर काफी चर्चा और खबरें आ रही है। क्यूंकि आप पार्टी के मनीष सिसोदिया व हालही में ईडी द्वारा गिरफ्तार किये गए आप नेता संजय सिंह को लेकर भी चर्चा है। ईडी ने इन्हे एक शराब घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया है। इनके खिलाफ मनी लॉन्डरिंग का मामला बनाया गया है। हालाँकि हम यहां सिर्फ मनी लॉन्ड्रिंग यानि पीएमएलए के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं।

इसके इलावा के एमएलए एक्ट भी होता है। जो बिलकुल इसी तरह के केसों में लगता है लेकिन इसके अंतर्गत छोटे केस आते हैं। चलिए जानते हैं मनी लॉन्ड्रिंग केस के बारे में :-

उद्देश्य: धन शोधन निवारण अधिनियम का प्राथमिक उद्देश्य धन शोधन को रोकना, धन का स्वच्छ और कानूनी उपयोग सुनिश्चित करना और देश की आर्थिक सुरक्षा की रक्षा करना है।

प्रमुख प्रावधान:

  • अवैध रूप से प्राप्त धन की पहचान: अधिनियम में अवैध तरीकों से प्राप्त धन की पहचान और पता लगाने के प्रावधान शामिल हैं।
  • लेन-देन की निगरानी: बैंकों जैसे वित्तीय संस्थानों को अपने ग्राहकों के लेनदेन की बारीकी से निगरानी करने और कानून के अनुपालन में संदिग्ध गतिविधियों की रिपोर्ट करने की आवश्यकता होती है।
  • दंड: अधिनियम मनी लॉन्ड्रिंग के दोषी पाए गए लोगों के लिए दंड की रूपरेखा तैयार करता है। दंड की गंभीरता कानून के विशिष्ट प्रावधानों और देश के कानूनी ढांचे के आधार पर भिन्न हो सकती है।
  • संपत्ति की ज़ब्ती: संदिग्ध मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में, अवैध तरीकों से प्राप्त संपत्तियों को ज़ब्त करने का प्रावधान हो सकता है।
  • जमानत: अधिनियम में जमानत से संबंधित प्रावधान भी शामिल हो सकते हैं, जिसमें उन शर्तों को निर्दिष्ट किया जा सकता है जिनके तहत किसी आरोपी व्यक्ति को जमानत पर रिहा किया जा सकता है। जमानत के फैसले अक्सर अपराध की गंभीरता और व्यक्ति की भौगोलिक स्थिति से प्रभावित होते हैं।

    Prevention of Money Laundering Act (PLMA) In Hindi
    Prevention of Money Laundering Act (PLMA) In Hindi

Money Laundering Act (MLA) –

“एमएलए” और “पीएमएलए” दोनों का उपयोग मनी लॉन्ड्रिंग गतिविधियों को रोकने और दंडित करने से संबंधित कानूनी प्रावधानों और विनियमों को दर्शाने के लिए किया जाता है। उनका प्राथमिक उद्देश्य मनी लॉन्ड्रिंग से निपटने के लिए कानूनी ढांचा स्थापित करना है, यह सुनिश्चित करना है कि अवैध रूप से प्राप्त धन का अवैध उपयोग नहीं किया जाता है, और ऐसे धन का पता लगाने की सुविधा प्रदान करना है।

इन कृत्यों के विशिष्ट प्रावधान, अध्याय और दंड अलग-अलग कानूनी प्रणालियों और नियामक आवश्यकताओं के आधार पर एक क्षेत्राधिकार से दूसरे क्षेत्र में काफी भिन्न हो सकते हैं। अंतिम लक्ष्य सुसंगत है: देश की आर्थिक अखंडता की रक्षा करते हुए मनी लॉन्ड्रिंग गतिविधियों को रोकना और दंडित करना।

मनी लॉन्ड्रिंग को विश्व स्तर पर एक गंभीर अपराध माना जाता है, और ऐसी गतिविधियों को संबोधित करने और रोकने के लिए मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम बनाया गया है। हालाँकि, विशिष्ट प्रावधान, अध्याय और दंड एक देश से दूसरे देश में भिन्न हो सकते हैं। किसी विशेष क्षेत्राधिकार में धन शोधन निवारण अधिनियम के बारे में सटीक जानकारी प्राप्त करने के लिए, आपको उस क्षेत्राधिकार के आधिकारिक कानूनी अधिकारियों या कानूनी दस्तावेजों से परामर्श लेना चाहिए।


Spread the love

Leave a Reply