December 3, 2023
Kabul , Afghanistan
केबिनेट कमेटी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सभी भारतीय नागरिकों को सुरक्षित भारत वापस लाया जायेगा , व अफ़ग़ान नागरिकों की भी मदद की जाएगी।
Spread the love

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के कब्ज़े के बाद वहां से एक तरफ अफ़ग़ान के नागरिक भी दूसरे देशों में जाने के लिए एयरपोर्ट पर जदोजहद कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ अफ़ग़ानिस्तान में दूसरे देशों के नागरिक भी अपने देशो की और रुख करने लगे हैं , यहां भारत के भी 1650 नागरिक फसे होने की जानकारी सामने आई है।


आपको बता दें अफगानिस्तान से अब तक भारतीय दूतावास के अधिकारीयों व स्टाफ , सुरक्षा कर्मियों को ही भारत वापस लाया गया है लेकिन अब आम नागरिकों को भारत वापस लाने पर विदेश मंत्रालय फोकस कर रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी तक 1650 भारतीय नागरिकों के आवेदन मिलें हैं जिन्होंने दूतावास में भारत वापसी की गुहार लगाई है।Afghanistan News

समाचार एजेंसी ANI  के मुताबिक विदेश मंत्रालय ने अफगानिस्तान में भारत वापसी के लिए वहां ईमेल , हेल्पलाइन नंबर उपलब्ध कराये थे। अभी 1650 भारतीय नागरिकों के आवेदन मिले हैं लेकिन धीरे धीरे ये संख्या बढ़ने के आसार हैं। अभी तक भारत ने वहां से सौ से ऊपर सरकारी कर्मचारी और विदेश मंत्रालय के अधिकारीयों को बाहर निकला है , अब बाकि रहते आम नागरिकों को भी अफगानिस्तान से बाहर निकालने का काम शुरू हो रहा है , यहां पर काफी भारतीय लोग काम के लिए आये हुए हैं , इसे पहले एयरपोर्ट पर माहौल काफी तनावपूर्ण था यहां किसी भी विमान का उतरना खतरे से खाली नहीं था , विदेश मंत्री एस जय शंकर व अजित डोभाल ने अमेरिका में बात की थी उसके बाद एयरपोर्ट पर अमेरिकी सेना तैनात की गयी तभी यहां जहाज उतर पाए।Taliban Afghanistan

केबिनेट कमेटी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सभी भारतीय नागरिकों को सुरक्षित भारत वापस लाया जायेगा , व अफ़ग़ान नागरिकों की भी मदद की जाएगी। राहत की बात ये है कि अभी भी अफ़ग़ानिस्तान में भारतीय दूतावास काम कर रहा है वहां स्थानीय स्टाफ मौजूद है। अमेरिकी सेना व नाटो फाॅर्स की मदद से वहां से आम नागरिकों को निकालने का प्रोसेस जारी है। वहीं तालिबान ने प्रेस कॉन्फ्रेस करके ये भरोसा दिया है वो आम नागरिकों को नुकसान नहीं पहुचायेंगे , अमरीका के अनुसार तालिबान इस बात पर सहमत हो गया है कि जो लोग देश छोड़ कर जाना चाहते हैं उन्हें सुरक्षित मार्ग दिया जायेगा।


Spread the love

Leave a Reply