June 18, 2024
Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses

Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses

Spread the love

आपको भी याद हों आईपीसी की धाराएं , किस अपराध के लिए क्या जुर्माना और क्या सजा है जानिए भारतीय कानून

धारा 302: हत्या के लिए जुर्माना – इस धारा के तहत, जब कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की हत्या करता है, तो उसे धारा 302 के तहत जुर्माना हो सकता है। यह जुर्म गंभीर होता है और उसके लिए सजा फिराक की जा सकती है।

Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses
Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses

धारा 304: अग्रिम हत्या – अगर किसी व्यक्ति की मृत्यु हत्या के लिए साबित नहीं हो सकती है, लेकिन उसके मृत्यु का कारण अन्य अपराधी का कुछ कार्य होता है, तो उसे धारा 304 के तहत अग्रिम हत्या का दोषी माना जा सकता है।
धारा 307: हत्या के प्रयास – जब कोई व्यक्ति हत्या का प्रयास करता है, लेकिन उसका प्रयास सफल नहीं होता, तो उसे धारा 307 के तहत जुर्माना हो सकता है।
धारा 308: संघर्ष के कारण मृत्यु – इस धारा के तहत, जब कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की मृत्यु का कारण बनता है, लेकिन उसका इरादा मृत्यु करना नहीं होता, तो उसे धारा 308 के तहत जुर्माना हो सकता है।

Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses
Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses

धारा 309: स्वयंहत्या का प्रयास – जब कोई व्यक्ति अपने आप को मारने का प्रयास करता है, लेकिन उसका प्रयास सफल नहीं होता, तो उसे धारा 309 के तहत जुर्माना हो सकता है।
धारा 323A: हिंसा के लिए जुर्माना – यह धारा हिंसा के लिए जुर्माना लगाने के लिए होती है।
धारा 354: शरीर की अवमानना के लिए जुर्माना – इस धारा के तहत, यदि कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की अवमानना करता है, तो उसे धारा 354 के तहत जुर्माना हो सकता है।
धारा 376: बलात्कार के लिए जुर्माना – इस धारा के तहत, यदि कोई व्यक्ति अन्य व्यक्ति के साथ बलात्कार करता है, तो उसे धारा 376 के तहत जुर्माना हो सकता है।

Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses
Overview of Indian Penal Code Sections Related to Offenses

धारा 420: धोखाधड़ी के लिए जुर्माना – इस धारा के तहत, यदि कोई व्यक्ति अन्य व्यक्ति को धोखा देकर पैसे लेता है, तो उसे धारा 420 के तहत जुर्माना हो सकता है।
धारा 497: धोखाधड़ी के लिए जुर्माना (जिन्हें शादीशुदा आदमी के साथ सम्बंध रखने का अभियान रखता है) – इस धारा के तहत, यदि कोई व्यक्ति शादीशुदा व्यक्ति के साथ अवैध संबंध बनाता है, तो उसे धारा 497 के तहत जुर्माना हो सकता है।


Spread the love

Leave a Reply