April 25, 2024
Khalistani supporter Toofan Singh released

Lovepreet singh Tufan

Spread the love

खालिस्तानी समर्थक तूफ़ान सिंह हिसंक प्रदर्शन के बाद रिहा , पुलिस ने अभी तक नहीं दर्ज़ किया पर्चा

अमृतसर /नई दिल्ली: अमृतपाल सिंह के करीबी लवप्रीत सिंह को शुक्रवार को हुए हमले के 72 घंटे के बाद रिहा कर दिया गया। उसकी रिहाई के लिए शुक्रवार सुबह अदालत में डीएसपी संजीव कुमार ने लिखित में दिया कि लवप्रीत के घटनास्थल पर मौजूद न होने की बात सामने आई है ,इसलिए उसे रिहा किया जाए। इसके बाद उसे 3 :20 बजे जेल से रिहा कर दिया गया ,इधर थाने पर हमला कर पुलिस वालों को जख्मी करने के बाद भी पर्चा दर्ज नहीं हुआ। Khalistani supporter Toofan Singh released –

Khalistani supporter Toofan Singh released
amritpal-singh-waris-punjab-de

पुलिस सीसीटीवी फुटेज देख कर जांच कर रही है। एसपी जुगराज सिंह को 11 टांके आए हैं। इस बीच ,केंद्रीय ग्रह मंत्रालय ने कहा ,सिंह भावनाओं को ध्यान में रखते हुए फ़िलहाल सीधे तौर पर हस्तक्षेप नहीं करेगी। राज्य पुलिस की एसआईटी जाँच रिपोर्ट की समीक्षा के बाद अगला कदम तय करेगा। शुक्रवार को 800 मुलाजिम हथियारों के साथ तैनात रहे। सुबह अमृतपाल थाने के बाहर से मीडिया को संबोधित कर वापस लौट आया।

सुखबीर बादल बोले-Khalistani supporter Toofan Singh released

शिअद बादल के प्रधान सुखबीर बादल ने कहा अजनाला थाने के बाहर जो घटित हुआ ,वैसा अनादर सिख इतिहास में आज तक नहीं हुआ। शांति पूर्ण प्रदर्शन लोकतान्त्रिक अधिकार है लेकिन निजी स्वार्थों के लिए श्री गुरु ग्रंथ साहिब को पुलिस थाने ले जाया गया वह सही नहीं है।

Khalistani supporter Toofan Singh released
Sukhbir Singh Badal

मजीठिया ने अमृतपाल को बताया डुप्लीकेट

शिअद नेता बिक्रम जीत मजीठिया ने कहा ,अमृतपाल डुप्लीकेट है पवन स्वरूप को ग़लनस्थल पर लेजाकर अमृतपाल की और से गुरु महाराज की आड़ ली गई है। सरकार के हाथों में खेल रहा है ,उसने जो किया वह कोई भी गुरसिख नहीं कर सकता। उन्होंने इस मामले में सीएम भगवंत को भी दोषी बताया है। Khalistani supporter Toofan Singh released –

मामले की जल्द जाँच करेंगे : गौरव यादव डीजीपी पंजाब

डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि अजनाला थाने के बाहर जुटे प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने की लेकिन प्रदर्शनकारियों ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की आड़ में पुलिस अफसर व् कर्मचरियों पर तेज धार हथियारों के साथ हमला किया है ,जो कि शर्मनाक है। इसी वजह से पुलिस बल ने नरमी बरती ताकि माहौल खराब न हो। Khalistani supporter Toofan Singh released

रंजीत सिंह ढडरियाँ वाला ने कहा-

Khalistani supporter Toofan Singh released
Ranjit-Singh-Dhadrianwale

रंजीत सिंह ढडरियाँ वाला ने कहा कि कई लोग श्री गुरु ग्रंथ साहिब को साथ ले जाना सही बता रहे है ,यह गलत है। अगर आर्मी या दूसरे राज्य की पुलिस होती तो वे एक्शन लेती। ऐसे में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की  बेअदबी होती। श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार इस पर विचार करें।


Spread the love

Leave a Reply