July 14, 2024
Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party

Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party

Spread the love

अबोहर के पूर्व विधायक अरुण नारंग ने थामा आप का झाड़ू

फाजिल्का : Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party

पंजाब के फाजिल्का जिले की अबोहर तहसील से पूर्व बीजेपी नेता व अबोहर के पूर्व विधायक अरुण नारंग ने आज चंडीगढ़ में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की मौजूदगी में आप का दामन थाम लिया। बताया जा रहा है कि पूर्व एमएलए अरुण नारंग पिछले महीनो सुनील जाखड़ को पंजाब बीजेपी प्रभारी बनाने से काफी नाराज़ चल रहे है। इसके चलते उन्होंने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा भी दे दिया था।

गौरतलब हो , कि पिछले दिनों जब जाखड़ अबोहर आये थे तब उन्होंने अरुण नारंग के आवास पर जा कर उनसे मुलाकात भी की थी। हालाँकि की दोनों नेताओं ने इसे औपचारिक मुलाकात बताया , वहीं जाखड़ ने इस मुलाकात पर कहा कि उन्होंने अरुण नारंग को दादा बनने पर बधाई दी है।

Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party

Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party
Abohar Former MLA Arun Narang Joins Aam Aadmi Party

बता दें कि सुनील जाखड़ को जब बीजेपी ने पंजाब प्रभारी बनाया था तब अरुण नारंग ने नाराजगी जताते हुए अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। नारंग ने कहा कि वो बीजेपी के कार्यकर्ता की तरह काम करते रहेंगे। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया क्यूंकि उंनसे किसी भी बीजेपी नेता बात तक नहीं की। इसी से नाराज़ नारंग ने पार्टी को अलविदा कहने का मन बना लिया था। वहीं जब सुनील जाखड़ अबोहर में उनके घर मुलाकात करने पहुंचे थे तब भी नारंग व जाखड़ की मुलाकात बेरंग ही नज़र आई थी। जिससे अंदाज़ा साफ़ था कि अब अरुण नारंग बीजेपी में नहीं रुकने वाले। जाखड़ उन्हें मनाने पहुंचे थे।

जिक्रयोग है साल 2017 में अरुण नारंग ने अबोहर के तीन बार एमएलए रहे सुनील जाखड़ को हराया था। नारंग हमेशा से ही जाखड़ विरोधी रहे हैं ऐसे में दोनों का एक पार्टी में रहना वो भी एक इलाके से ये सम्भव नहीं था। वहीं अंरदखाते बहुत सारे अबोहर के बीजेपी कार्यकर्ता भी जाखड़ को बीजेपी प्रधान बनाने से काफी नाराज़ हैं।

उन्होंने भी एक न्यूज़पेपर को बताया था। कि जब जाखड़ कांग्रेस में थे तब उन्होंने बीजेपी के छोटे कार्यकर्ताओं का जिना मुश्किल कर दिया था , यहां तक कि बहुत सारे कार्यकर्ता तो अबोहर छोड़ कहीं और चले गए थे, उन्होंने एक लोकल न्यूज़ पेपर को बताया कि उनपर नाजायज़ पर्चे डाले गए थे , उनकी दुकाने जलाई गयी थी। इतना क्राइम हुआ कि शब्दों में बयान करना मुश्किल है। लेकिन हमने तब भी बीजेपी का दामन नहीं छोड़ा था। न्यूज़ पेपर को दिए बयान के अनुसार उन्होंने कहा कि अब जाखड़ को पार्टी ने हमारा प्रधान बना दिया तो हम कैसे इस फैसले को मंजूर कर सकते हैं। ये तो हमारे पुराने जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है।


Spread the love

Leave a Reply