May 19, 2024
shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara

shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara

Spread the love

शिवालिक की पहाड़ियों का अद्भुत नजारा और प्रकृति का शानदार सफर |

शिवालिक पर्वतमाला पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, नेपाल, भारतीय उत्तर प्रदेश, सिक्किम, असम और पश्चिम बंगाल के मार्ग के रूप में फैली हुई हैं। इन पर्वतों का अधिकांश हिमालय से अलग नहीं हैं, इसलिए ये हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भी पाए जाते हैं। इनकी ऊचाई 1500 मीटर तक हो सकती हैं। यहां एक मुख्यतः मिट्टी और चरागाह का स्थान हैं।
बरौना डेवदार ,बलकेश्वर ,चौकी ,तिल्वा ,कारण पर्वत ,
चुरचिंबी ,नजराथ ,नाना देवी |

shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara
shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara

नाला धारये पहाड़ियाँ शिवालिक पर्वत श्रृंगगण क्षेत्र में स्थित हैं। शिवालिक पर्वत श्रृंगगण भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में स्थित हैं और इन पहाड़ियों को समायोजित करते हैं। इस क्षेत्र में कई छोटे और बड़े पहाड़ियाँ हैं, जिन्हें शिवालिक पहाड़ियाँ कहा जाता है।

बरौना डेवदार: यह पहाड़ी उत्तर प्रदेश के बरौना क्षेत्र में स्थित है।

बलकेश्वर: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में स्थित है और इसकी ऊचाई लगभग 2250 मीटर है।

चौकी: यह पहाड़ी उत्तराखंड में है और इसकी ऊचाई लगभग 2500 मीटर है।

तिल्वा: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश के नाना देवी श्रृंग में स्थित है और इसकी ऊचाई लगभग 2300 मीटर है।

कारण पर्वत: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में स्थित है और इसकी ऊचाई लगभग 2150 मीटर है।

चुरचिंबी: यह पहाड़ी उत्तराखंड में स्थित है और इसकी ऊचाई लगभग 2000 मीटर है।

नजराथ: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में है और इसकी ऊचाई लगभग 2300 मीटर है।

shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara
shivalik ki pahadiyon ka adbhut najara

नाना देवी: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में स्थित है और इसकी ऊचाई लगभग 2300 मीटर है।

नाला धार: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में है और इसकी ऊचाई लगभग 2200 मीटर है।

चोटी बिरबल: यह पहाड़ी हिमाचल प्रदेश में है और इसकी ऊचाई लगभग 2100 मीटर है।
इसके लिए आप निकटवर्ती शहरों या कस्बों के नजदीकी हवाई अड्डों तक हवाई यात्रा कर सकते हैं। फिर वहाँ से आप गाड़ी, बस, या ट्रेन का इस्तेमाल करके उस क्षेत्र की ओर बढ़ सकते हैं


Spread the love

Leave a Reply