June 18, 2024
grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal

grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal

Spread the love

इस तरह रखें गर्मियों में पक्षियों का ख्याल और सीखें उनसे ये गुण ,पक्षियों का महत्व: प्रकृति के रंग-बिरंगे संगीतकार

प्रकृति का सौंदर्य अपनी अनगिनत रंगों और ध्वनियों में बसा है, जिसमें पक्षियों का विशेष स्थान है। पक्षी न केवल हमारे परिवारिक जीवन का हिस्सा हैं, बल्कि वे हमारे प्राकृतिक परिवेश के लिए भी महत्वपूर्ण हैं।

grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal
grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal

 दाना -पानी और ख्याल –गर्मियों में पानी की उपलब्धता में कमी होती है, इसलिए आप पक्षियों के लिए पानी के प्रदान को बढ़ा सकते हैं। पक्षियों के लिए पानी के सकोरे रखें और साथ में दाने भी रखें |आप सकोरे बालकिनी या कोई पेड़ के नीचे भी रख सकते हैं ध्यान रहे वहां कोई जानवर कुत्ता ,बिल्ली न पहुंच पाए इस बात का बहुत खास ख्याल रखें ,आखिर उनकी जिंदगी का सवाल है | बर्ड बाथ या बर्ड फ़ीडर लगाने से पक्षियों को पानी की आपूर्ति मिलेगी।

ठंडी जगह प्रदान करें: पक्षियों को गर्मियों में ठंडी जगह प्रदान करना महत्वपूर्ण है। आप पेड़ों के नीचे झूले या छतरी लगाकर उन्हें ठंडा स्थान प्रदान कर सकते हैं।

उचित आहार: पक्षियों को उचित आहार प्रदान करना भी महत्वपूर्ण है। उन्हें फल, सब्जियाँ और बीजों को खाने के लिए छोड़ देना चाहिए।

केमिकल्स का उपयोग न करें: पक्षियों के लिए केमिकल्स का उपयोग करना हानिकारक हो सकता है। गर्मियों में पेड़ों और पौधों पर पेस्टिसाइड और इंसेक्टिसाइड का उपयोग करना बंद कर दें।

grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal
grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal

इन उपायों का पालन करके आप पक्षियों के लिए गर्मियों में सहारा बन सकते हैं और उन्हें आरामदायक और सुरक्षित बना सकते हैं।

पक्षियों से सीखें ये बातें –

बहुत मेहनती –पक्षी मेहनत करने से नहीं घबराते |अगर उनका घोंसला किसी वजह से टूट गया हो तो वे उसे दोबारा बनाना शुरू कर देते हैं |

अपनी सुरक्षा का ख्याल –जब चिड़ियाँ दाना चुगने आंगन में आती है तो थोड़ी सी आहत में झट से उड़ जाती है | इस तरह पक्षी अपनी सुरक्षा को लेकर चौकन्ने होते हैं |

grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal
grmiyon men ese rakhen pkshiyon ( birds ) ka khyal

अपना आत्मसम्मान सबसे पहले – अगर पक्षियों को किसी का व्यवहार पसंद नहीं आता तो वे उस स्थान पर दोबारा नहीं जाते ,अपने लिए नया स्थान खोज लेते हैं और वहीं अपना जीवन व्यतीत करते हैं |

आत्म -सयंम का गुण – पक्षी बहुत सारा एक साथ नहीं खाते ,वे थोड़ा थोड़ा खाते हैं | प्रकृति से वे उतना ही लेते हैं जितना उनके पेट के लिए जरूरी होता है |
इस तरह उनका ख्याल रखें व उनसे सीख सकते हैं |


Spread the love

Leave a Reply