July 14, 2024
pets (doges ) ka khyal kaise rkhen

pets (doges ) ka khyal kaise rkhen

Spread the love

पालतू के लिए इन बातों का ख्याल रखें संरक्षक

जब पालतू पहली बार घर आता है तभी से वह परिवार का सदस्य बन जाता है | वह सबके साथ बैठता है , खाता है ,घूमता है और खेलता भी है | और उसे पल -पल में सहलाना उसे प्यार जताने और अपने मन को खुश करने का जरिया भी होता है | परन्तु इस प्रेम के बीच कई बार संरक्षक ये भूल जाते हैं कुछ लोगों को उनके इस व्यवहार से दिक्क्त हो सकती है |

pets (doges ) ka khyal kaise rkhen
pets (doges ) ka khyal kaise rkhen

जिम्मेदारी निभाएं – आपका पालतू लाइसेंस प्राप्त होना चाहिए | आईडी टैग के साथ उसे एक कॉलर जरूर पहनाएं | यह उसकी और दूसरों की सुरक्षा सुनिश्चित करता है |अपने पालतू के आकर और स्वभाव के लिए उपयुक्त पता चुनें | अगर आप फ्लैट में रहते हैं | और लिफ्ट का इस्तेमाल करते हैं तो लोगों के बीच पालतू को साथ ले जाने से बचें | क्योंकि लोगों को उससे डॉ लग सकता है या वो उन पर हमला भी कर सकता है | लिफ्ट में पालतू को अकेले लेकर जाएं या फिर सीढ़ियों का इस्तेमाल करें | ऐसी तरह बाजार ,किसी दुकान आदि जैसे स्थानों पर पालतू को साथ ले जाने से बचें |

शोर पर भी ध्यान दें – आपके घर में पालतू है और दिनभर आते -जाते लोगों को देखकर भोंकता है तो उसे आस पास के लोगों को तकलीफ हो सकती है | इसके लिए पालतू को ट्रेनिंग दी जाती है |उसे कब भोंकना है और कैसे शांत रहना है ,ये सब सिखाया जाता है |

pets (doges ) ka khyal kaise rkhen
pets (doges ) ka khyal kaise rkhen

जब बाहर घुमाने ले जाएं –जब आप पालतू को सैर पर लेकर जाते हैं तो वह जगह -जगह रुककर शौच और लघुशंका तो करेगा ही | आपको इस बात का ध्यान रखना है पालतू किसी के घर के सामने ऐसा न करें | उसे किसी ऐसे स्थान पर भी न लेकर जाएं जहां लोगों का आना जाना है | इसके इलावा , सैर पर जाते समय हमेशा अपने साथ पूप बैग रखें |

मेहमानों का भी सोचें – कुछ लोग भूल जाते हैं उनके घर आए मेहमानों को पालतू से दिक्क्त हो सकती है | कई लोग मेहमानों के साथ बैठे पालतू को सहलाते हैं और उन्हीं हाथों से खाना परोस देते हैं | अगर मेहमानों को नाश्ता परोसा है और पालतू वहां बैठकर खाने की इच्छा जाहिर करता है तो लोग वहीं से एक कटोरी लेकर उसी में थोड़ा नाश्ता रखकर उसे दे देते हैं |

pets (doges ) ka khyal kaise rkhen
pets (doges ) ka khyal kaise rkhen

आपके इस व्यवहार से मेहमानों को आपत्ति हो सकती है |वे कुछ कहेंगे नहीं लेकिन हो सकता है आपके घर का कुछ खाना पसंद न करें | जहां मेहमान बैठे वहां से पालतू को दूर रखें | अगर आप उसे सहलाते भी हैं तो फौरन हाथ धोएं और फिर खाना परोसें |

पसंद -नापसंद का सम्मान – कुछ लोगों को पालतू पसंद नहीं होते और कुछ को उनसे डर भी लगता हैं | लोगों की पसंद -नापसंद का समान करें |अगर आपके घर कोई आया हैं और वो पशुओं से दूर रहता हैं तो उसे पालतू से परिचय कराने के लिए जबरदस्ती न करें | कई लोग ये कहते हुए पालतू को छूने का दबाव डालते हैं वह कुछ नहीं करेगा | इसका फैसला सामने वाले व्यक्ति को करने दें |


Spread the love

Leave a Reply